Moral Stories in Hindi Archive

Moral Story in Hindi – भिखारी ने लौटाया धन | हिंदी कहानियाँ

किसी नगर में गंगा के किनारे बैठकर एक भिखारी भीख माँगा करता था | उसके हाथ में एक कटोरा रहता था | जिसे जो देना होता था , वह कटोरे में डाल देता था | वर्षो से भिखारी के जीवन का यही क्रम चलता आ रहा था | जाड़ा हो या गर्मी , वर्षा हो

Moral Story in Hindi – मुक्ति का मार्ग | हिंदी कहानियाँ

एक व्यापारी था | उसने व्यापर में खूब कमाई की | बड़े-बड़े मकान बनाये , नौकर-चाकर रखे | लेकिन दुर्भाग्य की बात की व्यापर में उसे घाटा होने लगा और वह एक-एक पैसे के लिए मोहताज हो गया | जब उसकी परेशानी सहन से बाहर हो गई , तब वह एक साधु एक पास गया

Moral Story in Hindi – प्रेम की भाषा | हिंदी कहानियाँ

एक सन्यासी अपने शिष्यों के साथ गंगा नदी के तट पर नहाने पहुचा | वहा एक ही परिवार के कुछ लोग अचानक बात करते-करते एक-दुसरे पर क्रोधित हो उठे और जोर-जोर से चिल्लाने लगे | सन्यासी यह देख तुरंत पलटा और अपने शिष्यों से पूछा , क्रोध में लोग एक-दुसरे पर चिल्लाते क्यों है ?