Moral Story in Hindi – मुक्ति का मार्ग | हिंदी कहानियाँ

एक व्यापारी था | उसने व्यापर में खूब कमाई की | बड़े-बड़े मकान बनाये , नौकर-चाकर रखे | लेकिन दुर्भाग्य की बात की व्यापर में उसे घाटा होने लगा और वह एक-एक पैसे के लिए मोहताज हो गया |

जब उसकी परेशानी सहन से बाहर हो गई , तब वह एक साधु एक पास गया और रोते हुए बोला , महाराज मुझे कोई रास्ता बताइए , जिससे मुझे शांति मिले |

साधु ने पूछा – तुम्हारा सब कुछ चला गया ?

व्यापारी ने कहा – जी हा |

साधु बोले – तुम्हारा था तो उसे तुम्हारे पास रहना चाहिए था ! वह चले कैसे गया ?

साधू ने पुनः प्रशन किया – जन्म के समय तुम अपने साथ कितना धन लाये थे ?

व्यापारी ने जवाब दिया – स्वामीजी , जन्म के समय तो सब खाली हाथ आते है |

साधु बोले , ठीक है , और  पुनः प्रशन किया और व्यापारी से पूछा – अब यह बताओ की मरते समय अपने साथ कितना ले जाना चाहते हो ?

व्यापारी ने कहा – मरते समय साथ कौन ले जाता है , जो मै ले जाऊंगा |

साधु बोले – जब तुम खाली हाथ आए थे और खाली हाथ जाओगे तो फिर चिंता किस बात की करती हो ?

व्यापारी ने कहा – महाराज जब तक मौत नहीं आती , तब तक मेरी और मेरे घर वालो की गुजर-बसर कैसी होगी ?

साधु हंस पड़े , जो धन के भरोसे रहेगा उसका यही हाल होगा | तुम्हारे हाथ-पैर तो है , उन्हें काम में लाओ | पुरुषार्थ सबसे बड़ा धन है | ईश्वर पर भरोसा रखो | मुक्ति का यही एक मात्र रास्ता है | व्यापारी की आँखे खुल गई | उसका मन शांत हो गया | जाने कितने वर्षो के बाद पहली बार उसे चैन की नींद आई और उसके शेष वर्ष बड़े आनंद में बीते |

दोस्तों हम में से ऐसे बहुत से लोग है , जो सिर्फ और सिर्फ यह सोचते रहते है  , की पैसे कैसे बनाये , तेजी से आमिर कैसे बने . bla , bla…..लेकिन हम अपनी सबसे बड़ी धन को भूल जाते है , और वो है अपनी मन की शांति .

आज जिसको देखो वो हर कोई पैसे के पीछे भाग रहा है , लेकिन अपनी मन की शन्ति नहीं ढूंढ पा रहा है , लोग आजकल पैसे के लिए आज पता नहीं क्या – क्या करने लगे है , कुछ लोग बेपरवाह हो गए है , और वो अपना interest को छोड़कर सिर्फ – सिर्फ पैसे के पीछे भाग रहे है  . जिसके कारण पैसे कमाने के चक्कर में वे गलत काम करने से भी  नहीं चुकते .

लेकिन आप ही बताइए , ऐसा पैसा का क्या फ़ायदा जब आप को दो पल की शांति भी नहीं है ..?, आप अपने मन का कुछ कर भी नहीं कर  सकते , न ही आप अपने friend circle को time दे पाते है , और न ही अपने family members को .

आखिर में आप खुद सोचिये आप इतने पैसे का करेंगे क्या….? क्या आज तक कोई अपने पैसे को ऊपर ले जा पाया है क्या , जो हम ले जा पायंगे , तो फिर इतना पैसा – पैसा क्यों करना ….

केवल  उतना पैसा ही कमाइए जितनी की आपकी जरुरत है , या फिर आपको लगता है , की future के लिए saving करना सही है , तो वो कीजिये , लेकिन वो भी एक limit तक , ऐसा न हो की बस आप सिर्फ और सिर्फ पैसा छापने के चक्कर में अपने बहुमूल्य चीज खोते जायंगे

एक बाद याद रखिये पैसे आते जाते रहते है , लेकिन वो पल या लम्हा कभी वापस नहीं आयंगे , जिसमे आप किसी के साथ जीते हो , don’t matter की वो कोई भी हो , आपके परिवार से लेकर आपकी धर्मपत्नी तक,सभी लोगो को बराबार time दे ,क्योकि जब आप इनके साथ जीते हो तब आप memories create करते हो,जो कही न कही आपके life के last stage तक आपकी साथ रहेगी.

और post के आखिरी में दोस्तों आप बताइए की आपको यह post कैसे लगी , हमें comment के माध्यम से बताना न भूले.अगर आपके पास कुछ अच्छे विचार है , तो वो भी share करे . और इस post को अपने friends/family के साथ share करना न भूले .

Related Post





agar aapka koi sawaal hai toh hamse puche